लोक सभा चुनाव के लिए नयी रणनीति बना रही भाजपा-बसपा

बसपा का जनाधार गिरना मायावती के लिए चिंता का विषय

4पीएम की परिचर्चा में प्रबुद्घजनों ने किया मंथन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। यूपी में बसपा का ग्राफ लगातार गिर रहा है। मायावती इससे चिंतित है। वहीं बीएसपी महासचिव सतीश मिश्रा के योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म है। सवाल यह है कि क्या भाजपा और बसपा 2024 के लोक सभा चुनाव के लिए कोई रणनीति बना रहे हैं। आखिर क्या है इस मुलाकात के मायने। इस मुद्दे  पर वरिष्ठ पत्रकार अशोक वानखेड़े, अरविंद कुमार सिंह, डॉ. सीपी राय, उमाशंकर दुबे, प्रो. रविकांत और 4पीएम के संपादक संजय शर्मा ने एक लंबी परिचर्चा की।
उमाशंकर दुबे ने कहा, यूपी चुनाव के दौरान यदि मायावती ऐसी बातें करती जो पिछले एक-दो दिनों में किया तो परिणाम कुछ और होता। मायावती ने अपना जनाधार खो दिया है। 2024 में भी वैसे ही समीकरण बनने के आसार है। सतीश मिश्रा इसे भांप चुके हैं। इसी क्रम में उन्होंने मुख्यमंत्री से शिष्टाचार  मुलाकात की है। अरविंद कुमार सिंह ने कहा बीएसपी का विधान सभा में भले एक विधायक हो मगर लोक सभा में सीटें सपा से ज्यादा है। लोक सभा चुनाव बीएसपी के लिए कड़ी चुनौैती होगी। ऐसे में मायावती का बीजेपी के साथ समझौता कोर्ई आश्चर्य की बात नहीं है। प्रो. रविकांत ने कहा यूपी चुनाव में जब लोगों ने आईना दिखा दिया तो मायावती मुसलमान व दलितों का भरोसा जीतने के लिए प्रयास कर रही है। डॉ. सीपी राय ने कहा राष्ट्रपति  व उपराष्ट्रपति के लिए मायावती के नाम पर विचार होगा, इसकी उम्मीद नहीं है। अशोक वानखेड़े ने कहा यूपी में मायावती हाशिए पर चली जा रही है। अपना वजूद बचाए रखने के लिए उन्होंने वार-पलटवार शुरू किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button