भारत ने दुनिया को दिया अपनी ताकत का संदेश : राजनाथ

अगर कोरोना और रूस-यूक्रेन युद्ध नहीं होता तो देश की अर्थव्यवस्था होती 4.3 ट्रिलियन डॉलर

  • रक्षामंत्री ने दस वर्षों में ईकोनॉमी में भारत के विश्व के तीन टॉप देशों में शामिल होने की जताई उम्मीद

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत ने अपनी ताकत का संदेश पूरे दुनिया को दिया है। परिणामों की चिंता नहीं करेगा, स्वाभिमान से समझौता नहीं करेगा, ये है आज का भारत। 2014 के बाद से विश्व में भारत की प्रतिष्ठा, साख और विश्वसनीयता बढ़ी है। पहले भारत की बात को गंभीरता से नहीं लिया जाता था। आज अमेरिका भी भारत की बात सुनकर उस पर अमल करने की कोशिश करता है। नेतृत्व प्रभावी होता है तो विकास को कोई नहीं रोक सकता है।
नमस्ते लखनऊ विद राजनाथ सिंह कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि डिफेंस की क्षमता और अर्थव्यवस्था से किसी देश की ताकत का आकलन होता है। यदि कोरोना और यूक्रेन-रूस युद्ध नहीं होता तो हमारी अर्थव्यवस्था का आकार 4.3 ट्रिलियन डॉलर होता। भारत की तरह ही अमेरिका और चीन में भी महंगाई का संकट है। कोरोना से अर्थव्यवस्था पर असर पड़ा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हमारे कोरोना प्रबंधन की प्रशंसा की है। देश से निर्यात लगतार बढ़ रहा है। अंतरराष्ट्रीय व्यापार बढ़ रहा है। आरबीआई ने महंगाई रोकने के लिए कदम उठाए है। उन्होंने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था का आकार उतना बड़ा नहीं है पर हमारा स्वप्न है कि आगामी दस वर्षों में हमारा भारत ईकोनोमी में टॉप तीन देशों में शामिल हो जाए। कोरोना और यूक्रेन युद्ध के बावजूद जीडीपी ग्रोथ रेट बढ़ी है। अर्थव्यवस्था का आकार बढ़ाने के लिए ट्रेड अग्रीमेंट की दिशा में भी प्रयास हो रहे हैं।

रक्षामंत्री का ऐलान, लखनऊ में बनेंगे पांच और फ्लाईओवर

राजनाथ सिंह ने कहा, चाहे कोई संसदीय निर्वाचन क्षेत्र हो, राज्य हो या देश, कोई दावा नहीं कर सकता कि वहां का समग्र विकास हुआ है। हमने पहले दिन से बस ईमानदारी से प्रयास किया है। रिंग रोड का काम अब तक पूरा हो जाना चाहिए था। जितना उस काम की प्रगति होनी चाहिए थी, वह नहीं हुई है। 104 किमी की रिंग रोड हमारा ड्रीम प्रोजेक्ट है। यह बन जाने के बाद भारत के किसी कोने से कोई लखनऊ आना चाहता है तो वह सीधे इस रिंग रोड से अपने मोहल्ले, अपने घर पहुंचेगा। शहर में छह फ्लाईओवर बन गए हैं। लखनऊ के लोगों को जाम से निजात दिलाने के लिए पांच फ्लाईओवर और स्वीकृत हो गए हैं। जल्द निर्माण शुरू होंगे।

व्यवस्था परिवर्तन से लगेगा भ्रष्टाचार पर अंकुश

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि केवल संस्कारित करके नहीं व्यवस्था में परिवर्तन लाकर भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा सकते हैं। अब सब डिजिटल हुआ है, जिससे भ्रष्टाचार पर भी अंकुश लगा है। जनधन योजना को भी विश्व में सराहा गया। यह करिश्मा है कि गांव के कोने-कोने तक के व्यक्ति को बैंकिंग सिस्टम से जोड़ा गया है। आज हम कोई सुविधा पहुंचाना चाहते हैं तो सीधे खाते में पहुंचता है। लीकेज की संभावना खत्म हुई है।

कड़ी सुरक्षा के बीच ज्ञानवापी में पहले दिन का सर्वे पूरा, तहखानों में हुई वीडियोग्राफी

  • हिंदू पक्ष के जितेंद्र सिंह का दावा, वहां कल्पना से बहुत ज्यादा, कल भी होगा सर्वे

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
वाराणसी। ज्ञानवापी परिसर का सच सामने लाने के लिए अदालत के आदेश पर सभी पक्षों की मौजूदगी में आज पहले दिन का सर्वे समाप्त हो गया। एडवोकेट कमिश्नर की मौजूदगी में सर्वेक्षण के दौरान पूरी टीम ने एक-एक चीज का बारीकी से निरीक्षण किया। एडवोकेट कमिश्नर अजय मिश्र और वादी-प्रतिवादी पक्ष के 50 से ज्यादा लोग परिसर के अंदर गए थे। सुबह 8 बजे से शुरू हुआ सर्वे करीब 12 बजे तक चला। इस दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही।
सर्वे के बाद बाहर निकले विश्व वैदिक सनातन संघ के प्रमुख जितेंद्र सिंह बिसेन ने कहा है कि वहां कल्पना से बहुत कुछ ज्यादा है। कल के सर्वे के लिए भी बहुत कुछ है। कुछ ताले खोले गए, कुछ ताले तोडऩे पड़े। उन्होंने कहा कि न्यायालय के निर्देश के मुताबिक सर्वे हो रहे हैं। वकीलों ने कहा कि करीब चार घंटे तक ये कार्यवाही चली। रिपोर्ट अत्यंत गोपनीय है। कोर्ट का आदेश है कि जो कोई भी कार्यवाही को लेकर बाहर कुछ लीक करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जहां-जहां का सर्वे करना था, वहां-वहां किया गया। वकीलों ने ये भी कहा कि सर्वे की कार्यवाही कल यानी 15 मई को भी जारी रहेगी। दीवारों पर कोई चिन्ह, प्रतीक चिह्न मिला? तहखाने में क्या मिला? इस सवाल का जवाब देने से वादी पक्ष के जितेंद्र सिंह बिसेन के साथ वकील तक हर कोई बचता रहा।

क्या है मामला

ज्ञानवापी परिसर स्थित श्रृंगार गौरी के रोजाना दर्शन पूजन की मांग को लेकर पांच महिलाओं की ओर से दायर वाद पर बीते आठ अप्रैल को सुनवाई हुई। अदालत ने अजय कुमार मिश्र को अधिवक्ता आयुक्तनियुक्त करते हुए ज्ञानवापी परिसर का सर्वेक्षण कर 10 मई तक अदालत में रिपोर्ट प्रस्तुत करने का आदेश दिया था। छह मई को कमीशन की कार्यवाही शुरू तो हुई लेकिन पूरी नहीं हो सकी। अब अदालत के फैसले के बाद कमीशन की कार्यवाही शुरू हुई।

 

सुनील जाखड़ ने कांग्रेस को बोला गुड बाय, कहा खटिया पर है पार्टी

  • शीर्ष नेतृत्व पर साधा निशाना, चिंतन नहीं चिंता शिविर की जरूरत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने कांग्रेस पर जमकर हमला किया। उन्होंने अंबिका सोनी का नाम लेते हुए सोनिया गांधी से उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। उन्होंंने कहा कि कांग्रेस की बुरी हालत है और वह खटिया पर है। उन्होंने कांग्रेस को गुड बाय भी कह दिया।
जाखड़ ने फेसबुक पर लाइव होकर अपना दर्द बयां किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व चापलूसों से घिरा हुआ है। उन्होंने कहा कि खुद को कांग्रेस अनुशासन कमेटी द्वारा मुझे नोटिस देना बहुत ही चोट पहुंचाने वाला है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अनुशासन कमेटी की रिपोर्ट पर मुझे पार्टी के सभी पदोंं से हटाने का पत्र जारी किया। सोनिया बताएं कि मैं किस पद पर था जो मुझे हटाया गया। हकीकत यह है कि मैं पार्टी में किसी पद पर था ही नहीं। जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस को बचाने की जरूरत है। चिंतन शिविर की जगह चिंता शिविर का आयोजन होना चाहिए था। अंत में उन्होंने कांग्रेस को गुड लक के साथ गुड बाय भी कह दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button