पाबंदियों के बीच अखिलेश ने बदली रणनीति

फ्री बिजली के वादे को जनता तक पहुंचाने को सपा चलाएगी अभियान

  • सपा कार्यकर्ता घर-घर जाकर घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं का करेंगे रजिस्टे्रशन
  • सपा प्रमुख बोले, प्रतिबंधों के हटने के बाद रैलियों की मांगेंगे अनुमति, भाजपा पर साधा निशाना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। कोरोना के चलते चुनाव आयोग द्वारा प्रचार को लेकर लगाई गयी पाबंदियों के बीच सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने अपनी रणनीति बदल दी है। उन्होंने ऐलान किया कि सपा की सरकार बनने पर प्रदेश की जनता को तीन सौ यूनिट फ्री बिजली देने के वादे को जनता तक पहुंचाने के लिए कल से घर-घर अभियान चलाएंगे। उन्होंने कहा कि सपा ने तीन सौ यूनिट बिजली फ्री देने का फैसला किया है। यूपी के लोगों को भाजपा सरकार में महंगी बिजली मिली। बिल को लेकर कई लोगों पर एफआईआर तक दर्ज की गयी। उन्होंने लोगों से अपील की कि जिनके नाम पर घरेलू बिजली के कनेक्शन हैं उसी नाम को दर्ज कराएं।

सपा कल से रजिस्ट्रेशन अभियान चलाएगी। जो लोग तीन सौ यूनिट बिजली फ्री चाहते हैं उनके लिए नाम और फार्म भरने का काम सपा कार्यकर्ता करेंगे। जिनके पास घरेलू कनेक्शन नहीं है और वे भविष्य में कनेक्शन लेने वाले हैं वे आधार कार्ड या राशन कार्ड में दर्ज नाम लिखवाएं। उन्होंने कहा कि पाबंदियों के कारण बड़ी रैलियां नहीं हो रही हैं। लिहाजा हम अपने वादों के साथ जनता के सामने जा रहे हैं। पाबंदियां हटने के बाद रैलियों की अनुमति मांगी जाएगी तब तक सपा घर-घर जाकर अपनी बात रखेगी। सपा कार्यकर्ता ऑनलाइन और घर-घर जाकर रजिस्टे्रशन करेंगे। सरकार ने पिछले कुछ महीनों से लोगों को बिजली का बिल नहीं भेजा है क्योंकि अगर बिल भेज दिया तो इनकी जमानत जब्त हो जाएगी। भाजपा ने कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों को आतंकवादी कहा और वोट पाने के लिए कृषि कानून वापस ले लिए। उन्होंने कहा कि विधान सभा में सबसे अधिक अपराधी भाजपा ने पहुंचाए हैं। सांसद और विधायक में मारपीट हुई। इसे सभी ने देखा।

भाजपा से सभी वर्ग परेशान

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा बताए कि उसने 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने का वादा किया था फिर किसानों की आय दोगुनी क्यों नहीं हुई? महंगाई के कारण किसानों की हालत खराब हो गयी है। ओलावृष्टिï से फसलों को नुकसान हुआ लेकिन किसानों को कोई मुआवजा नहीं दिया गया है। जनता भाजपा से नाराज है। बेरोजगारी और महंगाई बढ़ गयी है। भाजपा सरकार में सबकुछ बेचा जा रहा है। बैंकों में ब्याज कम हो गया है। नोटबंदी के बाद अर्थव्यवस्था के साथ कई बैंक भी डूब गए। निवेश के नाम पर यूपी में कुछ भी नहीं दिखा।

भाजपा सरकार ने सपा के वरिष्ठï नेताओं पर दर्ज कराए झूठे मुकदमे

सपा की मान्यता रद्द करने को लेकर दर्ज याचिका के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि पहले भाजपा की मान्यता रद्द करें क्योंकि मुख्यमंत्री पर भी आपराधिक मुकदमा दर्ज है। डिप्टी सीएम पर भी मुकदमा है। सपा के कई लोगों पर झूठे मुकदमे हैं। पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं पर भी मुकदमे दर्ज हैं। रामपुर आए एक जिलाधिकारी ने खुद के आउट ऑफ टर्न प्रमोशन के लिए मनमाने तरीके से मुकदमे लगाए। उसी कड़ी में नाहीद हसन पर भी मुकदमा दर्ज हुआ है। अब्दुल्ला आजम को फंसाने में कांग्रेस और भाजपा दोनों थी।

 

केजरीवाल का ऐलान, पंजाब में आप का सीएम चेहरा होंगे भगवंत मान

  • 22 लाख लोगों ने मान के पक्ष में दी थी राय

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

मोहाली। पंजाब विधान सभा चुनाव में सांसद भगवंत मान आम आदमी पार्टी का सीएम चेहरा होंगे। आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मोहाली में आज इसका ऐलान किया। उन्होंने कहा कि 22 लाख लोगों ने मान के पक्ष में राय दी है। इस दौरान भगवंत मान की माता हरपाल कौर और उनकी बहन भी मौजूद रहीं।

आज दोपहर में केजरीवाल के ऐलान से पहले ही पूरे शहर में भगवंत मान के पोस्टर लग गए थे। नाम की घोषणा के बाद मंच पर केजरीवाल ने भगवंत मान को गले लगाया। भगवंत मान का जन्म साल 1973 में संगरूर जिले में हुआ था। वह पेशे से कॉमेडियन, एक्टर व राजनेता है। 2011 में उन्होंने राजनीति में एंट्री की थी। इसके बाद वह संगरूर से दो बार लोक सभा चुनाव जीत चुके हैं। लोगों में काफी लोकप्रिय हैं। विधान सभा चुनाव में सीएम चेहरे पर लोहड़ी के दिन आम आदमी पार्टी ने एक नंबर जारी कर लोगों से सीएम चेहरे पर राय मांगी थी।

अब पीएम मोदी ने संभाला मोर्चा

  • कार्यकर्ताओं को दिया जीत का मंत्र
  • पूर्वांचल में छठवें और सातवें चरण में होना है मतदान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

वाराणसी। यूपी विधान सभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मोर्चा संभाल लिया है। पीएम ने नमो एप के जरिए अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के करीब दस हजार भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ वर्चुअल संवाद किया। उन्होंने मुख्य रूप से बूथ अध्यक्षों के साथ चर्चा की और उन्हें जीत का मंत्र दिया। प्रदेश में विधान सभा चुनाव की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री का यह पहला राजनीतिक कार्यक्रम है।

पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि हमें मतदाताओं को मतदान के महत्व के बारे में बताना चाहिए। उन्हें बताएं कि हर वोट महत्वपूर्ण है। उत्तर प्रदेश में होने वाले विधान सभा चुनावों में बढ़ चढक़र हिस्सा लें। उन्होंने कहा कि चुनाव अपने आप में एक ट्रेनिंग कैंप होता है। ज्यादातर लोगों को कार्यकर्ता के रूप में हम तैयार कर सकते हैं। हमें लोगों को एक-एक वोट की कीमत समझानी है। हम और योगी जी इसलिए कुछ कर पा रहे हैं क्योंकि जनता ने हमें वोट दिया है। गौरतलब है कि पूर्वांचल में आखिर के दो चरणों छठवें और सातवें में चुनाव होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button