योगी के एक और मंत्री के इस्तीफे का मैसेज वायरल

बसपा में शामिल होने की भी खबर

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव से पहले नेताओं ने पाला बदलना शुरू कर दिया है। सत्ताधारी पार्टी बीजेपी को यूपी में एक के बाद एक बड़े झटके लग रहे हैं। इसी बीच योगी सरकार में राज्यमंत्री अजीत सिंह पाल का इस्तीफा देकर बसपा में जाने का मैसेज भी खूब वायरल हो रहा है। हालांकि उन्होंने इन खबरों का खंडन किया है। कानपुर देहात की सिकंदरा सीट से विधायक और इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी विकास राज्यमंत्री अजीत सिंह पाल के बीजेपी छोड़कर बसपा में जाने की खबरें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही हैं। वहीं, जब इन खबरों को लेकर अजीत सिंह पाल से पूछा गया तो उन्होंने इन्हें गलत बताया और कहा कि ये झूठी और भ्रामक खबरें हैं। इतना ही नहीं अजीत सिंह पाल ने ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की भी बात कही।

उन्होंने कहा कि मैं बीजेपी परिवार का सक्रिय सदस्य हूं। मैं मंत्री और विधायक रहते हुए अपने दायित्व का पालन कर रहा हूं। मेरे खिलाफ सोशल मीडिया पर पार्टी और मेरी छवि को धूमिल करने के लिए भ्रामक खबरें चलाई जा रही हैं। ये मेरे और पार्टी के सम्मान के लिए अत्यंत कष्टदायक हैं. उन्होंने भ्रामक खबरें वायरल करने के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है। इससे पहले भी जिले से बीजेपी महिला विधायक प्रतिभा शुक्ला का पार्टी छोड़ने का मैसेज वायरल हुआ था, तो उन्होंने ने भी अपना बयान जारी कर विपक्ष पर आरोप लगाया था। बीजेपी में इन दिनों इस्तीफों का दौर चल रहा है। हाल ही में स्वामी प्रसाद मौर्य और दारा सिंह समेत तीन कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दिया था।

यूपी में बीजेपी की हार होगी सबसे बड़ी आजादी : महबूबा

लखनऊ। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने भाजपा पर हमला बोला है। कहा कि यूपी में भाजपा से छुटकारा 1947 की तुलना में बड़ी आजादी होगी। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं इसलिए भाजपा औरंगजेब और बाबर को याद कर रही है। भारतीय जनता पार्टी पर तंज कसते हुए आदिवासी युवा सम्मेलन में महबूबा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में इस पार्टी से छुटकारा पाना 1947 से बड़ी आजादी होगी। क्योंकि ये लोग देश को बांटना चाहते हैं। अगर उन्होंने विकास का वादा किया है तो उत्तर प्रदेश में विकास दिखाएं। महबूबा मुफ्ती ने रूपनगर में जनजातीय वर्ग के लोगों के घरों को बिना नोटिस दिए तोड़े जाने की घटना पर भाजपा को निशाने पर लिया है। इस दौरान कहा कि गरीबों की दुश्मन भाजपा सरकार का कोई मानवीय चेहरा नहीं है।

पार्टी नेताओं के साथ रूप नगर में धरना स्थल पर पहुंचकर महबूबा मुफ्ती ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को समर्थन दिया है। इसके साथ ही उपराज्यपाल से जिनके घर बिना नोटिस के तोड़े गए हैं उन्हें फिर से उस स्थान पर घर बनाकर देने की अपील की है। उन्होंने कहा कि भाजपा के इशारे पर प्रशासन एकतरफा कार्रवाई कर रहा है। भाजपा के नेताओं के अवैध निर्माण पर प्रशासन चुप्पी साधे बैठा है, जबकि गरीबों के घरों को तोड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता के लिए हिंदू-मुस्लिम के बीच नफरत पैदा करती है। देश को भाजपा से आजादी चाहिए। यह लोग देश के टुकड़े करना चाहते हैं। मुस्लिम को मुस्लिम से लड़ाने की साजिश भाजपा करती रहती है।

गुज्जर बक्करवाल, पहाड़ी को लड़ाना चाहते हैं। भाजपा के खिलाफ सभी को एकजुट होने की जरूरत है। केवल धर्म के नाम पर नफरत पैदा कर वोट हासिल करना चाहते हैं। उन्होंने जनजातीय युवाओ से अपील की कि वह कलम और वोट की ताकत से भाजपा का मुकाबला करें। पत्थर और बंदूक कभी न उठाएं। यह भाजपा यही चाहती है कि उन्हें कोई मौका मिले। गोडसे की पूजा करने वाले कभी हिंदू नहीं हो सकते।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button